” ईउटा तारा खस्देमा आकाश शन्यू कहां हुंछ र ! ” एक तारा टूटने से आसमान शून्य नही…

” ईउटा तारा खस्देमा आकाश शन्यू कहां हुंछ र ! ” एक तारा टूटने से आसमान शून्य नहीं होता ( A गुरखा saying)
कल से मैदान गुलजार कीजिए , सड़के नहीं, मां भारती बुला रहीं हैं।
धैर्य , patience , बर्दास्त बड़े गुण होते हैं, aggression ये ज्यादा एक सिपाही में इन गुणों की आवश्यक्ता होती हैं । बंदूक में गोली…

More




Source

Leave a Reply

Your email address will not be published.