कई बार आप अपने कर्मो से भी अनभिज्ञ होते हैं और आपको एक गुरु की आवश्यकता होती हैं…

कई बार आप अपने कर्मो से भी अनभिज्ञ होते हैं और आपको एक गुरु की आवश्यकता होती हैं आपके अपने कर्म या कुकर्म को सामने लाने को , धन्यवाद विवेक Pathania ji





Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *