कलयुग है प्रभु, स्वर्ग नर्क सब यही हैं, सारे फैसले यही हो जाते हैं ।…

कलयुग है प्रभु, स्वर्ग नर्क सब यही हैं, सारे फैसले यही हो जाते हैं ।
1) आज तेजस्वी यादव की सरकार होती अगर नरेंद्र मोदी जी विधान सभा चुनाव में आखिर में आके लकड़सुंघवा etc नहीं दिखाते , मात्र 20000 वोट का फर्क था, फेंका जाते future PM , अब ? केंद्र में झेलो, बिहार भी गया !!!!
2) अगर हिम्मत करके चिराग को support कर दिए होते तो ? हनुमान था आपका !!! खुद चिराग बोले की हम हनुमान हैं ? क्या किए आप ?
3) अगर 2015 में ही ईमानदार , कर्मठ मंत्री सब बनाए होते तो क्या अकेले ही सरकार नहीं बनती ? अब जब राजद के मंत्री सब वो कर रहा हैं जो आपको करना चाहिए था तो आपको तकलीफ हो रहा हैं ? क्यों लग रहा हैं permamnent हो जायेगा ?
4) तब कहां थे भाजपाई जब नरेन्द्र जी के एक एक vision को CM रौंद दे रहे थे अपने पांवों के नीचे ।
मंगल पांडे भी स्वास्थ मंत्री थे, तेजस्वी भी हैं ? फर्क तो दिख रहा हैं neutral लोगो को
भाजपा अभी भी गलती मानिए , आगे बडिए, आपके समर्थक arrogant हैं , control किजिए




Source

Leave a Reply

Your email address will not be published.