कल के एक व्याकुल भारत के ट्वीट से ये लिख रहा हूं…

कल के एक व्याकुल भारत के ट्वीट से ये लिख रहा हूं

प्यारे वामपंथी चिंतक, लेखक एवं राजनेता :
बृहदाकारे लिखिताऽप्यवरा संख्या न याति बहुमौल्यम्।
रत्नाक्षरलिखिताऽपि क्षुद्रोक्तिर्नैति सरसकाव्यत्वम् ॥

किसी छोटी संख्या को अगर बड़े–बड़े अक्षरों में लिख दिया जाए तो उसका मूल्य बढ़ नहीं जाया करता है। क्षुद्र…

More

May be an image of 5 people and people standingMay be an image of 1 person, standing and military uniformMay be an image of 2 people and text that says 'Madhepun VoitSamantou @sVoice Voice i TRIBUNEHINDI.COM बिहार की राजनीति में कायस्थ और मुस्लिम लीडरशिप की भूमिका, इतिहास और वर्तमान'


Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *