पता नहीं ये मेरे अकेले के साथ होता है , या दुसरे भाइयो के साथ भी ….

पता नहीं ये मेरे अकेले के साथ होता है , या दुसरे भाइयो के साथ भी .
छठ के समय बहोत से NRB , NRI मिलते हैं , call करते हैं
युं लगता हैं की अब बिहार में बहार आने वाली हैं
ज़ितने लोग आते हैं उसका 10% भी जमीन पे आ जाये तो मज़ा आ जाये
में जानता हूँ यहाँ काम करना मुस्किल हैं , बहुत मुस्किल , हर कदम पे दिक्कत हैं
पर करना तो होगा




Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *