माननीय मोदी जी आप की विश्वसनीयता अब दागदार हो रही है…


माननीय मोदी जी आप की विश्वसनीयता अब दागदार हो रही है
आप जिस राज्य में चुनाव होते हैं वहां emotional card खेल के वोट लेना चाहते हैं पर करते कुछ नहीं है
पटेल जी की मूर्ति के बाद मुझे नहीं लगता किसी भी महापुरुष के नाम पर बहुत बड़ा कुछ हुआ हो
और हम बिहारियों को तो छोड़ दीजिए हम लोग मजदुर हैं, बिना औकात की जनता और बिना पेंदी के नेता ।
चलिए कम से कम आपने नेताजी के नाम पर एक दिवस की घोषणा तो की " पराक्रम दिवस"
हमारे नेता मौलाना मजहरूल हक का तो नाम भी शायद आपको याद ना होगा उससे भी बड़ी बात है कि आज तक डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद "देशरत्न" संविधान निर्माता भारत के प्रथम राष्ट्रपति के नाम पर कोई दिवस नहीं बना, लड़ मरकर एक मेधा दिवस की बात हुई तो वह भी राज्य तक सीमित रह कर गया
ऐसे में अगर कोई आप पर आरोप लगाए कि आप महापुरुषों के नाम का इस्तेमाल करते हैं तो क्या गलत है ?
वैसे पूछना चाहूंगा कि नेताजी की बारे में जो enquiries हुई थी आम चुनाव के वक्त उसको कुछ रिपोर्ट आया ?
माननीय , सिकंदर ( Aleaxander) एक War Time General था और उसकी सबसे बड़ी भूल यह थी कि उसके पास कोई भी Peace Time General नहीं था, उसे सिर्फ territory जीतना आता था, consolidate करना नहीं
आप भी लगभग उसी रास्ते जा रहे हैं, आपने अपने भाषणों और वादों के दम पर जितने राज्य जीते हैं उसमें तीन राज्य छोड़ दें तो लगभग हर जगह आपने निकम्मा मुख्यमंत्री दिया है

अब मेरे मोदी भक्त मित्रों इससे पहले कि आप मुझ पर हमला करें मैं पहले ही clarification दे देता हूं
1) आप मुझे जातिवादी बोल कर हमला करेंगे तो बताना चाहूंगा सुभाष बाबू भी उसी जाति से है जिससे डॉ राजेंद्र प्रसाद
2) आप मुझ पर क्षेत्रवाद का आरोप लगाएंगे तो बता दूं कि मैं जितना बिहार का हूं उतना ही उड़ीसा और बंगाल का भी
अतएव जाती और क्षेत्र के अलावा कोई मुद्दा हो तो हमला करें




Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *