मेरे गांव की एक कहावत हैं की बेहया के स्थान विशेष पे जंगल उग आया तो वो बोला की च…

मेरे गांव की एक कहावत हैं की बेहया के स्थान विशेष पे जंगल उग आया तो वो बोला की चलो बैठने को छांव हुआ ।
आज बहुत से नेता पक्ष विपक्ष दोनों तरफ, कभी पक्ष कभी विपक्ष सभी ( all are same) एक महान व्यक्ति , एक आम आदमी जो महान हुआ ऐसे विभूति श्री दशरथ मांझी जी को याद कर रहे हैं ।
बिहार के मेरे country…

More




Source

Leave a Reply

Your email address will not be published.