लगता है अब पुलिस वालों पे बहुत प्रेशर हैं अर्थव्यवस्था सुधारने का, बहुत ज्यादा प

लगता है अब पुलिस वालों पे बहुत प्रेशर हैं अर्थव्यवस्था सुधारने का, बहुत ज्यादा परेशान हैं सब, कल एक युग कांस्टेबल Swarnlata Kumari जिनकी ड्यूटी विकाश भवन मोड पे थी , शाम के लगभग 6 बजे मेरे से इसीलिए नाराज हो गई क्योंकि मेरे गाड़ी के सारे कागजात सही थे, काफी बहस हो गई सिर्फ इस बात पे की आप गाड़ी से उतर के पेपर क्यों नहीं धिखाए, सीट पे रह के कैसे चेक करवाए , जबकि हिंदुस्तान के लगभग हर शहर में गाड़ी में आके पेपर चेक किया जाता है. बिहार पुलिस कुछ खास हैं 😀😀😀😀



Source

5 thoughts on “लगता है अब पुलिस वालों पे बहुत प्रेशर हैं अर्थव्यवस्था सुधारने का, बहुत ज्यादा प

  1. 1 दो 2 पेपर कम रखें और सरकार का खजाना भरने में सहयोग करें देश में कंगाली की हालात हो चुकी है कृपया आपसे सहयोग की उम्मीद है सरकार को

  2. Been there done that sir. एक बार तो r block pe family ke sath tha. Was stopped by police. I requested the lady officer to be quick as I had a movie to catch. She asked the constable, he said all docs ok. She asked me to pay a small fine for Seat Belt not wearing but seeing me smile rechecked with Constable and let me go as everyone in the car was wearing seat belts and so she had to let us go.
    I think it was the same lady mentioned above.

  3. इससे बिहार पुलिस का भद्द पिट रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *