हवा में भंग मिल गई हैं, सस्ती लोकप्रियता पाने की भंग, नफरत फैलाने की भंग , asser…

हवा में भंग मिल गई हैं, सस्ती लोकप्रियता पाने की भंग, नफरत फैलाने की भंग , assertion of power की भंग
और अब ये खुनी होती जा रही हैं । कल एक TMC का थेथर TV पे बोल रहा था की किसी का ख़ून नहीं बहा, जनता इतना दुखी नहीं महुआ मोइत्रा से !!!
मतलब क्या ? जिस…



Source

Leave a Reply

Your email address will not be published.